औषधीय गुणों का खजाना है ये लाल पहाड़ी फूल, दिल का कहा जाता है डॉक्टर, जानें इसके फायदेBookmark and Share

PUBLISHED : 06-Sep-2019



उत्तराखंड के पहाड़ों पर खिलने वाला लाल बुरांश का फूल न सिर्फ दिखने में बेहद खूबसूरत लगता है बल्कि सेहत के लिहाज से भी कई मायनों में खास होता है। गर्मियों में लू, खांसी, बुखार जैसी बीमारियों को दूर भगाने के लिए यह दवा जैसा ही काम करता है। बुरांश के फूलों से तैयार जूस व अन्य उत्पादों का सेवन करने से आपके दिल की सेहत बने रहने के साथ शरीर में खून की कमी भी दूर होती है। आइए जानते हैं इस फूल के ऐसे ही कुछ जादुई औषधीय गुण।

दिल की सेहत-
रोडोडेन्ड्रोन प्रजाति के इस पेड़ में सीजनल बुरांश के लाल, सफेद, नीले फूल लगते हैं। लाल फूल औषधिय गुणों से भरपूर हैं। खास कर हृदय रोग से पीड़ित लोग यदि प्रतिदिन एक गिलास बुरांश का जूस पीने से दिल के रोग ठीक होते हैं। 

खून की कमी दूर करता है-
शारीरिक विकास या फिर शरीर में खून की कमी को बुरांश का जूस दूर करने का काम करता है।

कोलेस्ट्रॉल ही नहीं ब्लड प्रेशर भी रखता है कंट्रोल-
बुरांश के फूल न सिर्फ ह्दय रोगियों के लिए फायदेमंद हैं बल्कि इसका नियमित सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को भी राहत मिलती है। बुरांश के जूस में पॉली फैटी एसिड की मात्रा अधिक होने की वजह से यह शरीर में जाकर अधिक कोलेस्ट्रॉल नहीं बनने देता। जिसकी वजह से व्यक्ति को ह्दय संबंधी बीमारियां होने का खतरा काफी कम हो जाता है।
 
बदलते मौसम में आपको बनाए रखे सेहतमंद-
इस फूल में मौजूद विटामिन बी कॉम्प्लेक्स की वजह से बदलते मौसम में होने वाली कई बीमारियां जैसे खांसी, बुखार में बुरांश का जूस दवा जैसा काम करता है।

लीवर संबंधी रोग दूर रखता है-
बुरांश के जूस का सेवन करने से लीवर संबंधी रोग नहीं होते। इसके अलावा शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी वृद्धि होती है।

बॉलीवुड

Prev Next