टीम इंडिया के कोच बने कुंबले, एक साल तक संभालेंगे जिम्मेदारी Bookmark and Share

PUBLISHED : 24-Jun-2016



फिरकी के जादूगर और पूर्व कप्तान अनिल कुंबले को एक साल के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का नया मुख्य कोच नियुक्त किया गया है जिससे इस पद को लेकर पिछले लंबे समय से लगाई जा रही अटकलबाजियों पर भी विराम लग गया।

कुंबले अगले महीने भारतीय टीम के वेस्टइंडीज दौरे से ही नई जिम्मेदारी संभालनी होगी। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने आज यह घोषणा की। इस 45 वर्षीय पूर्व लेग स्पिनर को पूर्व टीम निदेशक रवि शास्त्री, आस्ट्रेलिया के टाम मूडी और स्टुअर्ट लॉ पर तरजीह दी गई है।

कुंबले का चयन बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति की सिफारिश पर किया गया है जिसमें इस लेग स्पिनर के तीन पूर्व साथी सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण शामिल थे। इस समिति ने मंगलवार को कोलकाता में दस घंटे तक चले सत्र में कुंबले सहित अन्य उम्मीदवारों के इंटरव्यू लिए थे।

बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बीसीसीआई बहुत पारदर्शी है। हमने मानक तय किए थे। इसके लिए क्रिकेट सलाहकार समिति भी थी। वे पूरी प्रक्रिया से गुजरे, साक्षात्कार लिए और कुछ नामों की सिफारिश की। विभिन्न हितधारकों के साथ चर्चा के बाद हमने अगले एक साल के लिए अनिल कुंबले को भारतीय क्रिकेट टीम का नया मुख्य कोच नियुक्त करने का फैसला किया।

उन्होंने कहा कि यह भारतीय या विदेशी से जुड़ा मसला नहीं है यह इस पद के लिए सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति से जुड़ा है। मेरा मानना है कि हमने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों की सेवाएं ली हैं जिन्होंने भारतीय क्रिकेट की सेवा की। ऐसी कोई सीमा नहीं थी कि हमें केवल भारतीय कोच ही चाहिए। हम भारतीय टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति को चाहते थे।

कुंबले का चयन उन 57 उम्मीदवारों में से किया गया है जिन्होंने बीसीसीआई के विज्ञापन के बाद इस पद के लिये आवेदन किया था। बाद में इस सूची को 21 उम्मीदवारों तक सीमित कर दिया गया था।

भारत की तरफ से सर्वाधिक विकेट लेने और विकेट लेने के मामले में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुथैया मुरलीधरन और शेन वार्न के बाद तीसरे नंबर पर काबिज कुंबले पिछले कुछ दिनों से कोच पद के प्रबल दावेदार बन गए थे हालांकि उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोचिंग का कोई अनुभव नहीं है।

कुंबले आईपीएल टीमों जैसे रायल चैलेंजर्स बेंगलूर और मुंबई इंडियन्स के मेंटर रहे हैं। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के रूप में उनका अपार अनुभव उनके पक्ष में गया।

इस पूर्व लेग स्पिनर ने अपने लगभग दो दशक के करियर में 132 टेस्ट मैच और 271 एकदिवसीय मैच खेले। कुंबले ने टेस्ट मैचों में 619 विकेट और वनडे में 337 विकेट लिए। इस तरह से दोनों प्रारूपों में उनके नाम पर 956 विकेट दर्ज हैं। यह लेग स्पिनर इंग्लैंड के जिम लेकर के बाद अकेले ऐसा गेंदबाज है जिसने किसी एक टेस्ट पारी में दस विकेट लिये। ठाकुर ने कहा कि अन्य सहयोगी स्टाफ की घोषणा बाद में की जाएगी।

कुंबले का अंतरराष्ट्रीय कोच के रूप में अनुभव की कमी के बावजूद उन्हें कोच नियुक्त करने के फैसले के सवाल पर ठाकुर ने कहा कि इस पूर्व स्पिनर का रिकार्ड ही सब कुछ बयां करता है कि वह इस पद के लिए कितने उपयुक्त व्यक्ति है। बीसीसीआई प्रमुख ने कहा कि एक साल बाद कुंबले के काम की समीक्षा की जाएगी।

उन्होंने कहा कि वह भारत के लिए मैच विजेता रहे हैं। उनका रिकार्ड शानदार है और जब भारत के लिए मैच जीतने की बात आती है तो रिकार्ड खुद ही अनिल कुंबले की कहानी बयां करते हैं। एक साल बाद उनके प्रदर्शन की समीक्षा की जाएगी।

लाइफ स्टाइल

बच्चों को 5 साल के अंदर जरुर लगवाएं ये टीके, बढ़े ह...

PUBLISHED : Dec 12 , 2:35 PM

बढ़ते प्रदूषण और पर्यावरणीय खतरों की वजह से बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बहुत जरुरी है, ऐसे में बच्चों क...

View all

बॉलीवुड

Prev Next