प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों को आगामी एक वर्ष में बनाएं उत्कृष्टBookmark and Share

PUBLISHED : 28-Aug-2020



कायाकल्प, दस्तक और निरोगी काया अभियान में मध्यप्रदेश ने जीते कई अवार्डस
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी सभी संबंधितों को बधाई


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों को आगामी एक वर्ष में चिकित्सा की आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित एवं उत्कृष्ट बनाया जाए। इस क्षेत्र में जिला चिकित्सालय सिवनी में जनसहयोग से किए गए कार्य उदाहरणीय हैं। सभी जिलों को इससे प्रेरणा लेना चाहिए। जन स्वास्थ्य के क्षेत्र में मध्यप्रदेश ने कायाकल्प, दस्तक और निरोगी काया अभियान में कई अवार्डस जीते हैं, यह इस बात का परिचायक है कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं में तेजी से प्रगति हो रही है। अवार्ड जीतने के लिए उन्होंने सभी संबंधितों की सराहना की तथा बधाई दी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में वी.सी. के माध्यम से सभी जिलों के साथ चर्चा कर रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान उपस्थित थे।

प्रदेश के 162 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का 70 प्रतिशत या अधिक स्कोर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह प्रसन्नता का विषय है कि प्रदेश के 162 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कायाकल्प अभियान के मापदण्डों में खरे उतरे हैं तथा उन्हें भारत सरकार द्वारा 70 प्रतिशत या अधिक रेटिंग दी गई है।

स्वास्थ्य कर्मियों का अभिनंदन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अवार्ड प्राप्त करने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों का अभिनंदन किया। उन्होंने कायाकल्प अभियान में अवार्ड प्राप्त करने के लिए जिला चिकित्सालय सिवनी, भिण्ड, बैतूल, अनूपपुर, सिविल अस्पताल एल्गिन जबलपुर तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पाटन को बधाई दी। इसी प्रकार दस्तक अभियान में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए इंदौर एवं रीवा संभाग तथा सीधी, सीहोर, सिवनी एवं धार जिलों को बधाई दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निरोगी काया अवार्ड के लिए नर्मदापुरम संभाग तथा रायसेन, होशंगाबाद एवं बड़वानी जिलों की सराहना की तथा बधाई दी।

'मैं भी अस्पताल मित्र अभियान'

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सिवनी जिला चिकित्सालय के कायाकल्प के लिए जनसहयोग से चलाए गए 'मैं भी अस्पताल मित्र' की सराहना की। कलेक्टर ने बताया कि इस अभियान के अंतर्गत जनसहयोग से लगभग एक करोड़ रूपये की राशि तथा एन.आर.एच.एम. से लगभग 2 करोड़ की राशि प्राप्त कर अस्पताल का कायाकल्प किया गया तथा इसे सभी आधुनिक चिकित्सा उपकरणों एव सेवाओं से लैस किया गया।

कायाकल्प अभियान

स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत चलाए जा रहे कायाकल्प अभियान का मुख्य उद्देश्य स्वास्थ्य संस्थाओं में उच्च स्तर की साफ-सफाई और संक्रमण नियंत्रण व्यवस्था स्थापित करना है। कायाकल्प अभियान के परिणाम स्वरूप साफ-सफाई में मानकीकरण, अस्पताल संक्रमण और एंटीबायोटिक उपयोग में कमी, मरीजों के संतुष्टि स्तर में सुधार जैसी उपलब्धियां परिलक्षित हो रही हैं। इससे शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं की ओ.पी.डी में निरंतर वृद्धि दर्ज हो रही है।

दस्तक अभियान

प्रदेश में पाँच वर्ष से कम उम्र के बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य तथा पोषण सेवाएं प्रदाय कर बाल मृत्यु दर में कमी लाने के उद्देश्य से दस्तक अभियान संचालित किया जा रहा है। इसके प्रमुख घटक हैं : बीमार गंभीर कुपोषित बच्चों की सक्रिय पहचान, रेफरल एवं प्रबंधन, बच्चों में गंभीर एनीमिया की सक्रिय स्क्रीनिंग एवं प्रबंधन, बच्चों में निमोनिया की त्वरित पहचान, प्रबंधन एवं रेफरल, बच्चों में दस्तरोग के नियंत्रण, बच्चों में दिखाई देने वाली जन्मजात विकृतियों की पहचान, समस्त बच्चों में विटामिन ए अनुपूरण, बच्चों का टीकाकरण, समुचित शिशु एवं बाल आहार पूर्ति व्यवहार को बढ़ावा तथा एस.एन.सी.यू एवं एन.आर.सी में उपचार एवं फॉलोअप।

निरोगी काया अभियान

जनसामान्य को हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज तथा कैंसर जैसे गंभीर गैर संचारी रोगों के प्रति जागरूक बनाने, रोगियों की पहचान करने और उन्हें उपचार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आरंभ इस अभियान का क्रियान्वयन 'आरोग्यम' हैल्थ एण्ड वैलनेस स्वास्थ्य केन्द्रों के माध्यम से किया जा रहा है। निरोगी काया अभियान के तहत प्रदेश में 35 लाख 22 हजार व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गई है। डायबिटीज के 1 लाख 26 हजार, हाई ब्लड प्रेशर के 2 लाख 41 हजार और कैंसर के 992 मरीजों की पहचान कर उपचार आरंभ किया गया है।

लाइफ स्टाइल

स्किन के लिए ग्लोइंग टॉनिक है अखरोट, जानें स्किन क...

PUBLISHED : Sep 23 , 12:39 PM

अखरोट का नाम सबसे पसंदीदा ड्राई फ्रूट्स में लिया जाता है। सेहत से जुड़े फायदों के साथ स्किन केयर के लिए भी अखरोट बेहद फाय...

View all

बॉलीवुड

Prev Next