बड़े नेताओं के कहने पर नही दी जाएगी टिकट..राहुलBookmark and Share

PUBLISHED : 26-Apr-2013

 भोपाल। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भोपाल यात्रा के दौरान साफ संदेश दिया कि अब बड़े नेताओं के कहने पर टिकट नहीं बंटेंगे। प्रदेश के दिग्गजों को आड़े हाथों लेते हुए राहुल ने कहा इन नेताओं को भला लगे या बुरा, उन्हें एक मंच पर आना पड़ेगा। राहुल यह कहने से भी नहीं चूके कि अब टिकट की सिफारिश करने वाले नेताओं को जिताने की जिम्मेदारी भी लेना पड़ेगी। यदि अब चुनाव हारे तो दिग्गजों को भी नुकसान उठाना पड़ेगा। राहुल ने मानस भवन में 15 लोकसभा क्षेत्रों के कांग्रेसजनों से सीधी बातचीत की। इस दौरान प्रदेश का कोई भी बड़ा नेता हॉल में नहीं था।

बड़े नेता घाघ हैं आपको भी नहीं छोड़ेंगे

राहुल ने जब बार-बार कहा कि वे  बड़े नेताओं की बजाय जिला व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षों को टिकट वितरण का अधिकार देना चाहते हैं तो सीहोर की रुक्मणी रोइला ने कहा 'बड़े नेता घाघ हैं। आपको भी नहीं छोड़ेंगे, सावधान रहिएगा।

पांच-छह नेताओं ने बपौती समझ लिया है

दिल्ली में बैठे पांच-छह नेता टिकट फाइनल कर देते हैं। जिला और ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षों को कोई अधिकार नहीं है। यही वजह है कि मप्र में कांग्रेस लगातार हार रही है।

तीन बार हारने वालों को नहीं मिलेगा टिकट

तीन चुनाव हारने वालों को टिकट नहीं दिया जाएगा। किसी भी दावेदार को अपना क्षेत्र बदलने की अनुमति भी नहीं दी जाएगी। जुलाई तक टिकट वितरण हो जाएगा।

योग्य उम्मीदवार का हक मारोगे तो बागी बनेगा ही

अधिकृत प्रत्याशी को तीन हजार और बागी को 50 हजार वोट। मतलब साफ है, अपने चहेते को टिकट दिलवाया गया। किसी का हक मारोगे तो वह बागी होगा ही।

पदाधिकारी चुनाव लडऩा चाहते हैं तो पहले पद छोड़ें

संगठन पदाधिकारियों को टिकट नहीं मिलना चाहिए। यदि वे चुनाव लडऩा चाहते हैं, तो उन्हें पहले अपना पद छोडऩा होगा। फिर उनके बारे में पार्टी विचार करेगी।

 
 
 

लाइफ स्टाइल

गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है गर्दन का दर्द, जान...

PUBLISHED : Aug 23 , 8:31 AM

गर्दन में दर्द की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। शरीर का पॉस्चर ठीक न होने की वजह से गर्दन की मांसपेशियों र्में ंखचाव आ ज...

View all

बॉलीवुड

Prev Next