दस मंजिला इमारत से छलांग...हत्या या आत्महत्याBookmark and Share

PUBLISHED : 16-May-2013

 भोपाल। पीएंडटी चौराहे के पास स्थित अन्नपूर्णा कॉम्प्लेक्स में बुधवार सुबह एक छात्रा की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। उसकी चप्पल और एडमिट कार्ड कॉम्प्लेक्स की छत पर मिला, जबकि घर से एक सुसाइड नोट मिला है, लिहाजा पुलिस इसे खुदकुशी मानकर जांच कर रही है। उसकी मौत किन परिस्थितियों में हुई, फिलहाल इस सवाल से परदा नहीं उठ पाया है। हालांकि परिजनों ने उसकी हत्या की आशंका जताई है। पिता का कहना है कि उनकी बेटी खुदकुशी नहीं कर सकती। उसकी हत्या की गई है।

प्रीति एक दिन पहले प्री एग्रीकल्चर टेस्ट (पीएटी) का प्रवेश पत्र निकालने इंटरनेट कैफे पर गई थी, इसके बाद घर नहीं लौटी। कोपल स्कूल में बारहवीं में पढऩे वाली 17 वर्षीय प्रीति पिता वीरेंद्र सिंह सिसोदिया नेहरू नगर स्थित मंडी क्वार्टर में रहती थी। उसके पिता मंडी बोर्ड में लिपिक हैं। उन्होंने बताया कि प्रीति प्री इंजीनियरिंग टेस्ट दे चुकी है और मंगलवार शाम करीब सात बजे पीएटी का प्रवेश पत्र निकालने इंटरनेट कैफे पर गई थी।

रात साढ़े आठ बजे तक जब वह नहीं लौटी तो उन्होंने प्रीति के मोबाइल फोन पर कॉल किया, जो स्विच ऑफ मिला। इसके बाद उसकी सहेलियों से बात कर उसका पता करने की कोशिश की गई, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। काफी तलाश करने पर भी जब वह नहीं मिली तो रात 11 बजे कमला नगर थाने पहुंचकर गुमशुदगी दर्ज करवाई गई। बुधवार सुबह करीब सात बजे कमला नगर पुलिस ने उन्हें प्रीति की लाश अन्नपूर्णा कॉम्प्लेक्स में मिलने की सूचना दी।

बदल गई जांच की दिशा

शुरू में पुलिस ने हत्या की आशंका जताते हुए जांच शुरू की, लेकिन इसी बीच उसके घर से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ। इसमें उसने जीने की इच्छा खत्म होने का जिक्र किया है। इस सुसाइड नोट ने जांच की दिशा मोड़ दी और खुदकुशी के बिंदु पर भी पड़ताल शुरू हुई।

 
 
 

लाइफ स्टाइल

थोड़ा-थोड़ा हंसना जरूर चाहिए… 100 रोगों की एक दवा,...

PUBLISHED : Oct 14 , 2:33 PM

हंसना, मुस्कुराना एक ऐसी भावना है जो इंसान के अलावा किसी अन्य प्राणि के नसीब में नहीं आई है। खास बात यह है कि खुशी सौ र...

View all

बॉलीवुड

Prev Next