बांग्लादेश के गृहमंत्री ने कहा, ढाका में आतंकी हमला आईएसआई ने करायाBookmark and Share

PUBLISHED : 04-Jul-2016


   

बांग्लादेश के गृहमंत्री असदुज्जमां खान ने ढाका में शुक्रवार रात को हुए हमले के पीछे आईएस का हाथ होने से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि इस हमले को स्थानीय आतंकियों ने पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के शह पर अंजाम दिया है।

खान ने रविवार को कहा, मुझे एक बार फिर साफ करने दें, बांग्लादेश में किसी आईएस या अलकायदा का वजूद नहीं है। बंधक बनाने वाले सभी देश में ही पले-बढ़े आतंकी थे, ना कि आईएस या किसी अन्य अंतरराष्ट्रीय इस्लामी संगठन के सदस्य। उन्होंने कहा, हमले में शामिल आतंकी जेएमबी (जमीयतुल मुजाहिदीन बांग्लादेश) जैसे देश में ही पनपे संगठनों से जुड़े हैं।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के राजनीतिक सलाहकार हुसैन तौफिक इमाम ने भी खान का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह बंधकों को तेज धारदार बड़े चाकुओं से मारा गया है उससे लगता है कि स्थानीय आतंकी समूह, प्रतिबंधित जमात-उल-मुजाहिदीन का इसमें हाथ है। इमाम ने एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा, पाकिस्तान की आईएसआई और जमात के बीच का रिश्ता जगजाहिर है। वे मौजूदा सरकार को पटरी से उतारना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि एक आतंकी को पकड़ा गया है, जिससे अहम जानकारियां मिली हैं। गौरतलतब है कि आतंकियों ने एक भारतीय सहित 20 विदेशी बंधकों की गला रेत कर हत्या कर दी थी।

जानकारों की जुदा राय
विशेषज्ञों का कहना है कि इस हमले को अंजाम देने वाले आईएस की विचारधारा से प्रभावित थे। जिस तरह से उन्होंने बंधकों की गला रेत कर हत्या की। वह उनके आईएस से प्रभावित होने का संकेत करता है। आईएस ने भी इस हमले की जिम्मेदारी ली है और उसने घटना से जुड़ी तस्वीरें बहुत पहले ही वेबसाइट पर पोस्ट कर दी थी। इससे संकेत मिलता है कि वे सीरिया या इराक में मौजूद किसी हैंडलर के संपर्क में थे। हालांकि मामले की जांच की जा रही है।

सभी आतंकी संपन्न बांग्लादेशी
ढाका ट्रिब्यून ने पुलिस सूत्रों के हवाले से प्रकाशित रिपोर्ट में दावा किया है कि हमले में शामिल सभी आतंकी बांग्लादेशी नागरिक हैं। इनकी उम्र 20 से 28 साल के बीच है। पुलिस का कहना है कि हमलावर सुशिक्षित थे और उनका ताल्लुक धनी परिवारों से है। एक पुलिस सूत्र ने बताया, उनमें से सभी छात्र थे और अपराध स्थल पर वे बंगाली और अंग्रेजी में बातचीत कर रहे थे।

पांच हमलावर पहले ही आतंकी घोषित
ढाका के पुलिस प्रमुख एकेएम शाहिदुल हक ने बताया कि मारे गए छह आतंकियों में से पांच का पहले से आपराधिक रिकाॠर्ड था। वे आतंकी के रूप में सूचीबद्ध थे और पुलिस को उनकी तलाश थी। पुलिस ने उनकी शिनाख्त आकाश, विकास, डान, बंधन और रिपन के रूप में की है। उन्होंने बताया कि मारे गए छह आतंकियों की तस्वीर भी जारी कर दी गई है, जबकि जिंदा पकड़े गए सातवें आतंकी से पूछताछ की जा रही है।

आईएस के दावों की जांच शुरू
आईएस ने कथित तौर पर ढाका हमले में शामिल चार आतंकियों की तस्वीर जारी की है। पुलिस इसकी सत्यता की जांच कर रही है। एजेंसियां अमेरिका आधारित साइट इंटेलिजेंस ग्रुप की ओर से जारी तस्वीर को भी खंगाल रही है। मीडिया रिपोटार्ें के अनुसार इन पांच हमलावरों में से तीन की शिनाख्त उनके दोस्त कर चुके हैं।

बॉलीवुड

Prev Next