कॉल ड्राप मंत्री नहीं कहलाना चाहता, गुणवत्ता में हो सुधार - प्रसाद Bookmark and Share

PUBLISHED : 02-Dec-2015



नई दिल्ली। दिनों दिन बढ़ रही कॉल ड्राप की समस्या जहां उपभोक्ताओं के साथ ही टेलीकॉम कम्पनियों के लिए भी सिरदर्द बनी हुई है। वहीं इस बार दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद भी कॉल ड्राप की समस्या को लेकर सख्त नजर आए। उन्होंने इसको देखते हुए ही टेलीकॉम कम्पनियों की खिंचाई भी शुरू कर दी है. मामले में यह बात सामने आई है कि मंत्री का यह कहना है कि "मैं कॉल ड्राप मंत्री नहीं कहलाना चाहता हूँ।"

टेलीकॉम ऑपरेटर्स की खिंचाई करते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वे कॉल ड्रॉप मंत्री नहीं कहलाना चाहते हैं। कॉल ड्रॉप पर पूरा देश चिंतित है और टेलीकॉम कंपनियों को कॉल ड्रॉप बंद करना ही होगा। टेलीकॉम मंत्री ने टेलीकॉम कंपनियों को कॉल ड्रॉप की समस्या खत्म करने के लिए गंभीर कदम उठाने के लिए कहा है।

उन्होंने कहा कि दूरसंचार ऑपरेटरों को सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार के लिए अपने नेटवर्क को मजबूत करना चाहिए। कई बार टोकने के बाद ही ऑपरेटरों ने सार्वजनिक तौर पर यह स्वीकार किया कि सेवाओं की गुणवत्ता ठीक नहीं है और इसमें सुधार की जरूरत है।


निवेश प्रतिबद्धता पर हमारी नजर

प्रसाद ने कहा कि उन्होंने कहा कि दूरसंचार कंपनियों द्वारा की गई निवेश प्रतिबद्धता पर हमारी नजर है। उन्होंने भारती एयरटेल को याद दिलाया कि उसने जुलाई में 80,000 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की थी।

गुणवत्ता में सुधार की जरूरत

प्रसाद ने ब्रॉडबैंड पर एरिक्सन के एक कार्यक्रम में कहा, मुझे यह कहते हुए खेद है कि मेरे कई बार टोकने के बाद ही आपने इस बात को स्वीकार किया कि सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार की जरूरत है। मैं माफी चाहूंगा कि मैं कॉल ड्रॉप मंत्री नहीं कहलाना चाहता। इस बारे में मैं स्पष्ट हूं।

लाइफ स्टाइल

Survey : घरों के परदों और सोफे से भी होती है सांस ...

PUBLISHED : Aug 17 , 3:09 PM

आमतौर पर माना जाता है कि सांस की बीमारी सिगरेट, बीड़ी पीने से होती है। पर, पिछले डेढ़ साल में हुए शोध के मुताबिक बिना धूम्...

View all

बॉलीवुड

Prev Next