प्रदेश में जनगणना का 12 अगस्त से पूर्व परीक्षण होगाBookmark and Share

PUBLISHED : 07-Aug-2019





भोपाल। प्रदेश में वर्ष 2011 की दशकीय जनगणना हेतु आगामी 12 अगस्त 2019 से 30 सितम्बर 2019 तक पूर्व परीक्षण होगा। इस परीक्षण में देखा जायेगा कि जब वर्ष 2021 में वास्तविक जनगणना कराई जायेगी तो उसमें  क्या-क्या जरुरतेें पड़ेंगी तथा क्या-क्या व्यवाहारिक कठिनाईयां आयेंगी।
इस संबंध में राज्य के गृह विभाग ने जनगणना अधिनियम 1948 के तहत अधिसूचना जारी की है। अधिसूचना में कहा गया है कि भारत की जनगणना 2021 के पूर्व परीक्षण के संचालन के लिये उक्त अधिनियम के उपबंधों का विस्तार किया जाता है एवं मप्र राज्य में 12 अगस्त 2019 से 30 सितम्बर 2019 तक पूर्व परीक्षण संचालित किया जायेगा।
यह होगा पूर्व परीक्षण में :
पूर्व परीक्षण के लिये राज्य के कतिपय जिलों का चयन किया जायेगा तथा उनमें गणक जाकर निर्धारित प्रश्नावली के माध्यम से घरों में जायेंगे। इस कार्य के दौरान उन्हें जो कठिनाईयां आयेंगी उसे लेख किया जायेगा। जिलों का चयन अभी किया जाना है।
निकल चुका है जनगणना करने का आदेश :
ज्ञातव्य है कि भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन कार्यरत जनगणना महारजिस्ट्रार द्वारा गत 26 मार्च 2019 को भारत सहित मप्र में जनगणना किये जाने का आदेश जारी कर चुका है। इस आदेश में कहा गया है कि भारत की जनसंख्या की जनगणना वर्ष 2021 के दौरान की जायेगी। जनगणना के लिये संदर्भ तारीख जम्मू और काश्मीर, हिमाचल प्रदेश एवं उत्तराखण्ड राज्यों के हिमाच्छादित असमकालिक क्षेत्रों के सिवाय मार्च 2021 के पहले दिन 00.00 समय होगी। जम्मू और काश्मीर, हिमाचल प्रदेश एवं उत्तराखण्ड राज्यों के हिमाच्छादित क्षेत्रों के संदर्भ तारीख अक्टूबर 2020 के पहले दिन 00.00 समय होगी।
विभागीय अधिकारी ने बताया कि जनगणना हेतु पूर्व परीक्षण जारी किया गया है। किन जिलों में यह परीक्षण होगा उनका चयन होना है। स पूर्व परीक्षण में देखा जायेगा कि जनगणना के दौरान क्या व्यावहारिक कठिनाईयां आयेंगी। सका लाभ वास्तविक रुप से की जाने वाली जनगणना में लिया जायेगा।

 

साइंस

दुनिया में बढ़ती गर्मी से उजड़ सकता है मत्स्य जीवन...

PUBLISHED : Dec 14 , 10:26 AM

दुनिया में तेजी से हो रहे जलवायु परिवर्तन के कारण मत्स्य उद्योग और प्रवाल भित्ति पर्यटन बर्बाद हो सकता है जिससे वर्ष 205...

View all

बॉलीवुड

Prev Next