मोदी सरकार देगी गरीब परिवारों को मुफ्त रसोई गैस कनेक्शनBookmark and Share

PUBLISHED : 23-Apr-2016



नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबी रेखा के नीचे गुजर-बसर करने वाले पांच करोड़ परिवारों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने की 8,000 करोड़ रुपए की महत्वाकांक्षी योजना की शुरुआत एक मई को करेंगे। इस योजना में 1.13 करोड़ उपभोक्ताओं के एलपीजी सब्सिडी छोड़ने हुई बचत का उपयोग किया जाएगा।
 प्रधानमंत्री मोदी एक मई को उत्तर प्रदेश के बलिया में इस 'उज्ज्वला' योजना की शुरुआत करेंगे और 15 मई को गुजरात के दाहोद में इसी प्रकार का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने समर्थ लोगों को एक वर्ष के लिए रसोई गैस सब्सिडी छोड़ने की अपील के साथ ‘गिव-इट-अप’ अभियान की शुरुआत औपचारिक तौर पर पिछले साल 27 मार्च को की थी। वैसे यह योजना जनवरी 2015 में शुरू की गई थी।
 
पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने यहां संवाददाताओं से कहा, ' इस अभियान की शुरुआत से अबतक 1.13 करोड़ लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ी है और वे रसोई गैस बाजार भाव पर खरीद रहे हैं।' इस सूची में महाराष्ट्र सबसे उपर है जहां 16.44 लाख ग्राहकों ने सब्सिडी छोड़ी।
 
वहीं उत्तर प्रदेश में 13 लाख लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ी। उसके बाद दिल्ली (7.26 लाख) का स्थान रहा। प्रधानमंत्री के गृह राज्य गुजरात में 4.2 लाख जबकि प्रधान के गृह राज्य ओड़िशा में 1.3 लाख लोगों ने गैस सब्सिडी छोड़ी।
 
प्रधान ने कहा, 'गैस सब्सिडी छोड़ने वालों में पांच राज्य महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक तथा तमिलनाडु का योगदान करीब आधा है।' ग्राहक फिलहाल साल 14.2 किलो के 12 सिलेंडर या पांच किलो के 34 सिलेंडर सब्सिडी दर पर लेने के हकदार हैं। फिलहाल सब्सिडी वाला 14.2 किलो का सिलेंडर दिल्ली में 419.13 रुपए में जबकि पांच किलो का 155 रुपए में उपलब्ध है।
 
वहीं बाजार मूल्य पर 14.2 किलो का एलपीजी सिलेंडर 509.50 रुपए पर उपलब्ध है। सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर छोड़ने से सरकार के सब्सिडी बिल में बचत होगी जो पिछले वित्त वर्ष में 30,000 करोड़ रुपए थी। पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि इस अभियान से करीब 5,000 करोड़ रुपए की सब्सिडी की बचत होगी जिसका उपयोग गरीबों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने में किया जा रहा है।
 
उन्होंने कहा, 'योजना के तहत पांच करोड़ बीपीएल परिवारों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए 8,000 करोड़ रुपए की राशि का निर्धारण किया गया है।' उन्होंने कहा कि पहले वर्ष 1.5 करोड़ कनेक्शन उपलब्ध कराए जाएंगे।
 
प्रधान ने कहा कि योजना के तहत बीपीएल परिचार को प्रत्येक एलपीजी कनेक्शन के लिए 1,600 रुपए उपलब्ध कराए जाएंगे। पात्र बीपीएल परिवार की पहचान राज्य सरकारों तथा केंद्र शासित प्रदेशों की सलाह से की जाएगी।

Webduniya

लाइफ स्टाइल

गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है गर्दन का दर्द, जान...

PUBLISHED : Aug 23 , 8:31 AM

गर्दन में दर्द की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। शरीर का पॉस्चर ठीक न होने की वजह से गर्दन की मांसपेशियों र्में ंखचाव आ ज...

View all

बॉलीवुड

Prev Next