सब्जियों की कीमत में तेजी Bookmark and Share

PUBLISHED : 15-Jun-2016




नई दिल्ली: सब्जियों की कीमत में दहाई अंक की वृद्धि के मद्देनजर थोकमूल्य आधारित मुद्रास्फीति मई महीने में बढ़कर 0.79 प्रतिशत हो गई। इस स्थिति के बीच उद्योग ने आपूर्ति पक्ष की दिक्कतें दूर करने के लिए नीतिगत पहले करने की मांग की है। औद्योगिक उत्पादन में नरमी के बावजूद थोकमूल्य और खुदरा मुद्रास्फीति में बढ़ोतरी के चलते रिजर्व बैंक ब्याज दरों में कटौती में देरी कर सकता है।

अप्रैल में थोकमूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 0.34 प्रतिशत थी और मार्च में यह शून्य से 0.45 प्रतिशत नीचे और पिछले साल मई में यह शून्य से 2.20 प्रतिशत कम थी। सब्जियों की महंगाई दर 12.94 प्रतिशत रही जो इससे पिछले महीने दर्ज 2.21 प्रतिशत के मुकाबले तेज बढ़ोतरी दर्शाती है। दाल दलहन की महंगाई दर 35.56 प्रतिशत पर इससे पिछले माह के स्तर पर कायम रही। सरकारी आंकड़े मुताबिक खाद्य मुद्रास्फीति मई में बढ़कर 7.88 प्रतिशत हो गई जो अप्रैल में 4.23 प्रतिशत थी। एसोचैम के महासचिव डी एस रावत ने कहा, ‘‘नीति-निर्माताओं को दलहन, खाद्य उत्पादों, अनाजों, गेहूं और अन्य उत्पादों जैसे जिंसों के मूल्य में निरंतर बढ़ोतरी का समाधान आपूर्ति पक्ष की पहलों के जरिए करने की जरूरत है।’ विशेषज्ञों ने कहा कि अनुकूल आधार प्रभाव और बेहतर मानसून के जरिए के कारण फौरी तौर पर थोक मूल्य मुद्रास्फीति में कुछ गिरावट होगी।
 

लाइफ स्टाइल

बच्चों को 5 साल के अंदर जरुर लगवाएं ये टीके, बढ़े ह...

PUBLISHED : Dec 12 , 2:35 PM

बढ़ते प्रदूषण और पर्यावरणीय खतरों की वजह से बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बहुत जरुरी है, ऐसे में बच्चों क...

View all

बॉलीवुड

Prev Next