अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव पर पड़ेगा असर? क्या डोनाल्ड ट्रंप का कोरोना बनेगा जो बाइडेन का सियासी हथियारBookmark and Share

PUBLISHED : 02-Oct-2020



अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले डोनाल्ड ट्रंप कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए हैं। चुनाव से ठीक पहले ट्रंप का कोरोना संक्रमण की चपेट में आना, उनके लिए एक तरह से झटका है। क्योंकि 3 नवंबर को अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव है और अभी कैंपेनिंग का काफी नाजूक समय था, मगर कोरोना की वजह से डोनाल्ड ट्रंप को अब क्वारंटाइन में रहना होगा। निजी सलाहकार होप हिक्स के कोरोना की चपेट में आने के बाद डोनाल्ड ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने भी अपना टेस्ट करवाया था, जिसमें उनका रिजल्ट पॉजिटिव आया। अब अगले 14 दिनों तक डोनाल्ड ट्रंप और मेलानिया को क्वारंटाइन में ही रहना होगा और अगले एक हफ्ते के बाद उनका फिर से कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

शुक्रवार की सुबह खुद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर इस बात की सूचना दी थी कि वह और फर्स्ट लेडी मेलानिया कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। वह क्वारंटाइन में रहेंगे और उन्होंने उम्मीद जताई की वे जल्द ही इससे रिकवर हो जाएंगे। बता दें कि होप हिक्स डोनाल्ड ट्रंप के साथ नियमित रूप से यात्रा करती हैं और हाल ही में होप हिक्स अन्य वरिष्ठ सहयोगियों के साथ प्रेसिडेंट डिबेट के लिए क्लीवलैंड, ओहियो गई थीं, जहां ट्रंप और जो बाइडेन के बीच जुबानी जंग देखने को मिली थी। जिस तरह से मास्क को लेकर ट्रंप ने बाइडेन का अब तक मजाक उड़ाया है, उम्मीद की जा सकती है कि बाइडेन ट्रंप के कोरोना के जरिए अपने चुनावी अभियान को और धारदार कर सकते हैं।

होप हिक्स के पॉजिटिव आने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार की रात खुद को क्वांरटाइन कर लिया था। दिन में व्हाइट हाउस की सलाहकार होम हिक्स कोरोना पॉजिटिव हो गईं थीं। जिसके बाद ट्रंप और मेलानिया ट्रंप ने अपना कोरोना टेस्ट करवाया था, जिसमें वे कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे उनके चुनावी अभियान में बाधा उत्पन्न हो सकती है। अमेरिका में तीन नवम्बर को राष्ट्रपति चुनाव है।

अमेरिका में तीन नवम्बर को होने वाले चुनाव से पहले डोनाल्ड और बाइडेन के बीच तीन बार बहस होगी। 29 सितंबर को डोनाल्ड ट्रंप और जो बाइडेन के बीच पहली बस हुई थी, जिसका संचालन 'फॉक्स न्यूज' के मशहूर एंकर क्रिस वालास ने किया। दूसरी बहस अब 15 अक्टूबर को होगी और फिर तीसरी बहस 20 अक्टूबर को। डोनाल्ड ट्रंप 15 अक्टूब तक पूरी तरह से स्वस्थ्य हो जाएंगे, इस पर शायद ही अनुमान लगाया जाए। मगर एक बात को साफ है कि उनका चुनावी कैंपने जरूर प्रभावित होगा।

इसके अलावा, अमेरिका में कोरोना वायरस से निपटने को लेकर ट्रंप प्रशासन विपक्ष के निशाने पर हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने जिस तरह से कोरोना के साथ निपटा है, इसके लिए जो बाइडेन से लेकर कई लोगों ने आलोचना की है। पहली बहस में तो जो बाइडेन ने कोरोना को लेकर ही हमला बोला था। पहली बहस के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने जो बाइडेन का मास्क पहनने को लेकर मजाक भी उड़ाया था। ट्रंप ने बाइडेन पर तंज कसते हुए कहा था, ' मैं उकी तरह हमेशा मास्क नहीं पहननता। बाइडन 200 फ़ीट की दूरी पर रहते हैं तो भी बड़ा सा मास्क पहनकर आ जाते हैं। वह जो भी मास्‍क लगातार आते हैं, मैंने उससे बड़े मास्‍क आज तक नहीं देखे।

इसके जवाब में जो बाइडेन ने कहा था कि उनके सीडीसी के प्रमुख ने कहा कि अगर हर कोई अब और जनवरी के बीच एक मास्क पहनता और सोशल डिस्टेसिंग का पालन करता तो तो हम शायद 100,000 जीवन बचा लिए होते। यह मायने रखता है। बता दें कि इससे पहले भी ट्रंप ने बाइडेन का मास्क पहनने को लेकर मजाक उड़ाया था। ट्रंप ने सितंबर के शुरुआत में जो बाइडेन के बारे में कहा था, 'क्या आपने कभी ऐसा इंसान देखा है जिसे मास्क अपने जितना ही पसंद हो?' उन्होंने कहा, 'उन्होंने उसे लटकने दिया (कान पर), क्योंकि वह उन्हें सुरक्षित महसूस करा रहा था। मैं अगर मनोचिकित्सक होता तो यकीनन कहता, 'इस व्यक्ति को कोई बड़ी परेशानी है।'

बाइडेन ने कोरोना वायरस से निपटने को लेकर ट्रंप पर निशाना साधते हुए कहा कि राष्ट्रपति ने कोविड-19 के मामले में अमेरिकियों से झूठ बोला। बाइडेन ने आरोप लगाया कि ट्रंप के पास कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से निपटने की ''कोई योजना नहीं है। फिलहाल, कोरोना वायरस के मामलों और मौत के मामलों में दुनियाभर में नंबर एक पर है।
साभार

लाइफ स्टाइल

कमजोर हड्डियां बन सकती हैं हृदयरोगों का कारण, शोध ...

PUBLISHED : Oct 02 , 12:06 PM

कमजोर हड्डियां सिर्फ शरीर को ही कमजोर नहीं बनाती बल्कि हृदय के स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल असर डालती हैं। अगर आप अपने हृदय ...

View all

बॉलीवुड

Prev Next