प्रधानमंत्री जन-धन योजनाBookmark and Share

PUBLISHED : 18-Nov-2014

 प्रधानमंत्री जन-धन योजना

मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री जन-धन योजना का पूरी तत्परता से क्रियान्वयन किया जा रहा है। उज्जैन के बाद अब खण्डवा और इंदौर जिले के सभी परिवार बेंकों से जुड़ गये हैं।
 
खण्डवा जिले में सभी 2 लाख 66 हजार 655 परिवार के बेंक खाते खुल चुके हैं। जिले में पहले से ही 2 लाख 28 हजार 376 परिवार के बेंक खाते थे। प्रधानमंत्री जन-धन योजना लागू होने के बाद शेष 38 हजार 279 परिवार के बेंक खाते खुल गये हैं। सभी नये खातेदारों को रूपे-कार्ड भी उपलब्ध करवाये जा चुके हैं।
 
इसी तरह इंदौर जिले में भी सभी परिवारों के पास अब बेंक खाते हो गये हैं। जिले में कुल 6 लाख 49 हजार 540 परिवार में से 3 लाख 70 हजार 356 परिवार के पास पहले से ही बेंक खाते थे। अभियान के दौरान शेष 2 लाख 79 हजार 184 परिवार के खाते खोले गये। अब इंदौर जिले में कोई भी परिवार बिना बेंक खाते के नहीं है।
 
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इस उपलब्धि के लिये खण्डवा जिला कलेक्टर श्री एम.के. अग्रवाल और इंदौर के कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी के साथ-साथ खण्डवा के अग्रणी जिला प्रबंधक श्री टी.ए. खान, बेंक ऑफ इण्डिया और इंदौर के अग्रणी जिला प्रबंधक श्री मुकेश भट्ट को बधाई दी है। उन्होंने इस कार्य से जुड़े बेंक कर्मियों तथा अन्य कर्मचारियों को भी इस उपलब्धि के लिये बधाई दी है। उन्होंने सभी जिलों से उज्जैन और खण्डवा की तरह शत-प्रतिशत कार्य पूरा करने की अपेक्षा की है।
 
उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री जन-धन योजना के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश का उज्जैन जिला सबसे आगे रहा है। इस जिले में निवासरत समस्त परिवार को बेंकों से जोड़ा जा चुका है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा स्वतंत्रता दिवस पर की गई घोषणा के अनुरूप मध्यप्रदेश में योजना के क्रियान्वयन को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान व्यक्तिगत रुचि लेकर देख रहे हैं। योजना में 26 जनवरी 2015 तक खाते खोले जाना है।
 
उज्जैन जिले में स्थानीय प्रशासन एवं सभी बेंक के संयुक्त सहयोग से जिले में रहने वाले 3 लाख 95 हजार 101 परिवार को पिछले 3 माह के दौरान बेंकों से जोड़ा गया। इसके पूर्व जिले में 2 लाख 74 हजार 299 परिवार के पास बेंक खाते उपलब्ध थे। प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद चलाये गये अभियान के दौरान बेंकों द्वारा एक लाख 20 हजार 802 खाते खोले गये। अब उज्जैन जिले का कोई भी परिवार ऐसा नहीं है, जिसका बेंक खाता नहीं खुला हो। बेंकों द्वारा अब तक 65 हजार 592 परिवार को रूपे-कार्ड उपलब्ध करवाया जा चुका है।
 
जन-धन योजना में प्रत्येक परिवार को बेंकिंग से जोड़ने के लिये प्रथमत: परिवार के किसी भी एक सदस्य का बेंक में खाता खोला जाता है। खाता-धारक को रूपे-कार्ड भी जारी किया जाता है।

लाइफ स्टाइल

Survey : घरों के परदों और सोफे से भी होती है सांस ...

PUBLISHED : Aug 17 , 3:09 PM

आमतौर पर माना जाता है कि सांस की बीमारी सिगरेट, बीड़ी पीने से होती है। पर, पिछले डेढ़ साल में हुए शोध के मुताबिक बिना धूम्...

View all

बॉलीवुड

Prev Next