मै पढ़ना चाहती हूं..प्लीज मेरी शादी रूकवा दोBookmark and Share

PUBLISHED : 30-Jan-2013

मैं पढ़ना चाहती हूं..पढ़ लिखकर कुछ बनना चाहती हूं.. आप जो भी हों..कलेक्टर..कमिश्नर या आयोग की अध्यक्ष जिसे भी मेरा ये पत्र मिले मुझे प्लीज बचा लीजिए । मैं 17 साल की नाबालिग लड़की हूं..मेरे घरवाले 1 फरवरी को जबरदस्ती मेरी शादी करा रहे है..प्लीज ये शादी रूकवा दीजिए । इंदौर के डकचिया गांव की मनीषा पटेल ने बाल आयोग को पत्र लिखकर अपनी ये दर्द भरी दास्ता सुनाई इस उम्मीद के साथ कि कोई तो उसकी मासूमियत छीने जाने से रोकेगा । टूटी फूटी अंग्रेजी में लिखे इस पत्र के साथ मनीषा ने आयोग को अपनी मार्कशीट और शादी का कार्ड भी भेजा है । आयोग ने पत्र मिलते ही इंदौर एसपी और महिला एवं बाल विकास अधिकारी से संपर्क कर विवाह रूकवा दिया । अब आयोग ने बाल विवाह के खिलाफ मनीषा की हिम्मत को देखते हुए उसे सम्मानित करने का फैसला लिया है ।
हालांकि अभी असमंजस की स्थिति बनी हुई है कि वो लड़की नाबालिग है या नही..लड़की के द्वारा भेजी गई मार्कशीट तो उसकी उम्र साढ़े सोलह साल दर्शा रही है लेकिन वहीं इंदौर में मिले दूसरे दस्तावेज में उसकी उम्र 18 साल सामने आ रही है। अब सच्चाई क्या है ये तो जांच के बाद सामने आएगी..लेकिन कहीं ना कहीं आयोग के हस्तक्षेप से एक लड़की के सपने चकनाचूर होने से बच गए ।
 

लाइफ स्टाइल

थोड़ा-थोड़ा हंसना जरूर चाहिए… 100 रोगों की एक दवा,...

PUBLISHED : Oct 14 , 2:33 PM

हंसना, मुस्कुराना एक ऐसी भावना है जो इंसान के अलावा किसी अन्य प्राणि के नसीब में नहीं आई है। खास बात यह है कि खुशी सौ र...

View all

बॉलीवुड

Prev Next