फिरोजाबाद में पंचायत का फरमान, खुले में शौच गए तो होगी जेलBookmark and Share

PUBLISHED : 20-Jun-2016


   

खुले में शौच अब दंडनीय अपराध होगा। पकड़े जाने पर जेल के साथ 250 रुपये का जुर्माना भी देना होगा साथ ही उसे शासकीय योजना के लाभ से हमेशा के लिए वंचित भी किया जाएगा। ऐसा रजावली ग्राम पंचायत ने एलान किया है। पंचों के इस फरमान को जिलाधिकारी निधि केसरवानी ने भी मंजूरी दे दी है।

लाख प्रयासों के बाद भी खुले में शौच पर लगाम नहीं लग पा रही है। ऐसे में टूंडला ब्लॉक के रजावली ग्राम पंचायत ने खुले में शौच जाने पर रोक लगाने के लिए कानून का सहारा लिया है। ग्राम प्रधान नीलम सिंह व पंचों ने कई बार लोगों को खुले में शौच के नुकसान बताए लेकिन लोगों पर कोई असर नहीं पड़ा। राशन पानी बंद करने की घोषणा भी विफल रही। अब पंचायत ने एक राय होकर खुले में शौच जाने को कानून के दायरे में बांधने का फैसला लिया।

रजावली परिक्षेत्र में खुले में शौच अब दंडनीय अपराध होगा। ऐसा करते पकड़े जाने पर आईपीसी (भारतीय दंड संहिता) की धारा 269, 270 व 336 के तहत कठोर कार्रवाई की जाएगी। पकड़े गए व्यक्ति से 250 रुपये जुर्माना भी वसूला जाएगा। साथ ही शासकीय योजना से हमेशा के लिए वंचित कर दिया जाएगा। ग्राम पंचायत के निर्णय को डीएम निधि केसरवानी ने भी अनुमति दे दी है। ग्राम प्रधान ने सूचना को बोर्ड पर लिखवाकर गांव में टांग दिया है ताकि लोग पढ़कर खुले में शौच न करें।

परियोजना समन्वयक राजीव नयन गुप्ता ने बताया कि ग्राम पंचायत में करीब 300 परिवार रहते हैं। इसमें से 172 परिवारों में स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्मित कराए गए हैं। 40 परिवारों के पास पहले से शौचालय हैं। इधर 88 परिवारों में से 70 परिवार आर्थिक रूप से सक्षम होने पर भी शौचालय नहीं बनवा रहे। इसमें कुछ शिक्षक हैं तो कुछ सेवानिवृत्त सैनिक। गांव में करीब 18 परिवार ही ऐसे होंगे जो कि शौचालय नहीं बनवा सकते, उनके लिए विभाग ने शासन से शौचालयों की मांग की है तब तक के लिए उन्हें वैकल्पिक संसाधन उपलब्ध कराने की योजना है।
 

लाइफ स्टाइल

कोरोना भगाने के लिए सोशल मीडिया पर वायरल टोटके, कह...

PUBLISHED : Mar 29 , 2:33 PM

महामारी से बचने के लिए पहले के लोग कोई न कोई टोटका किया करते थे। इसका कारण था मेडिकल साइंस का असहाय होना। कोरोना वायरस क...

View all

बॉलीवुड

Prev Next