कृषि महोत्सव प्रदेश के कृषि परिदृश्य को बदलने का अभियान बनेBookmark and Share

PUBLISHED : 19-May-2015


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कृषि महोत्सव को प्रदेश के कृषि परिदृश्य को बदलने का अभियान बनायें। इसके माध्यम से किसानों को कृषि की नवीनतम तकनीक और शोध के बारे में जागरूक करें। प्रदेश में बच्चों द्वारा भिक्षावृत्ति को रोकने के लिये अभियान चलायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ वीडियो कान्फ्रेंसिंग में प्रदेश के संभागायुक्त एवं कलेक्टर्स से चर्चा कर रहे थे। कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, लोक निर्माण मंत्री श्री सरताज सिंह, राजस्व मंत्री श्री रामपाल सिंह, मुख्य सचिव श्री अन्टोनी डिसा और पुलिस महानिदेशक श्री सुरेन्द्र सिंह भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश एक नई कृषि क्रांति की ओर बढ़ रहा है। कृषि महोत्सव प्रदेश के कृषि परिदृश्य को बदलने का अभियान है। महोत्सव को बड़ा जन अभियान बनायें। इसमें किसानों को फसल चक्र परिवर्तन के साथ नयी कृषि तकनीक से अवगत करवायें। कृषि के नवीनतम शोध की जानकारी किसानों तक पहुँचे। उद्यानिकी फसलों, पशुपालन, दुग्ध उत्पादन और मछली पालन के रूप में किसानों को सहायक रोजगार मिले। मिट्टी का परीक्षण कर किसानों को मिट्टी में आवश्यक खाद, बीज आदि की जानकारी दें।

263 नयी मिट्टी परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित होंगी

बताया गया कि प्रदेश में प्रत्येक विकासखण्ड में मिट्टी परीक्षण प्रयोगशाला की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये 263 नयी मिट्टी परीक्षण प्रयोगशालाएँ स्थापित की जायेंगी। कृषि महोत्सव प्रदेश में 25 मई से 15 जून तक मनाया जायेगा। अगले एक सप्ताह में राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना के तहत 5 लाख 40 हजार किसानों के खातों में करीब 379 करोड़ 7 लाख की बीमा राशि जमा की जायेगी। महोत्सव के दौरान किसानों को इस राशि के वितरण के प्रमाण-पत्र दिये जायेंगे।

बच्चों की भिक्षावृत्ति रोकने अभियान मिशन मोड में

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि प्रत्येक जिले में बच्चों द्वारा भिक्षावृत्ति को रोकने का अभियान चलायें। ऐसे बच्चों के रहने, भोजन और शिक्षा की व्यवस्था की जाये। ऐसे बच्चों के परिवारों को समझायें, उनकी मदद करें और यदि बच्चों के परिवार नहीं है तो उनकी व्यवस्था आश्रय-गृह में की जाये। ऐसे बच्चों की शिक्षा की व्यवस्था राज्य सरकार करेगी। उन्होंने कहा कि सभी कलेक्टर इस अभियान को मिशन मोड में चलायें। यह मानवीय संवेदनाओं से जुड़ा अभियान है। इसके लिये धनराशि की कोई कमी नहीं है। जन-प्रतिनिधि भी इस अभियान में सहयोग करें।

प्रदेश में प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजनाओं के तहत प्रत्येक नागरिक को लाभ दिलवाने के लिये 20 से 30 मई तक अभियान चलेगा। इसमें सभी जिलों में शिविर लगाये जायेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोई भी पात्र नागरिक इन योजनाओं के लाभ से वंचित नहीं रहे यह सुनिश्चित करने को कहा।

खाद के अग्रिम भण्डारण पर ब्याज राज्य सरकार देगी

प्रदेश में पिछले दिनों ओलावृष्टि से फसलों के हुए नुकसान की मुआवजा राशि के वितरण की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि हर जिले में इसका शत-प्रतिशत वितरण किया जाये। कुछ जिलों में राशि किसानों के जिलों से बाहर होने के कारण शेष रह गयी है उसे भी शीघ्र उनके खातों में जमा करवाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसानों को खाद के अग्रिम भण्डारण के लिये जागरूक करें। प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध है। खाद के अग्रिम भण्डारण पर ब्याज राज्य सरकार द्वारा भरा जायेगा। इस संबंध में जन-प्रतिनिधि किसानों को प्रेरित करें।

असामाजिक तत्वों के खिलाफ अभियान चलायें

कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में असामाजिक तत्वों के खिलाफ अभियान चलायें। इन्दौर जिले में इस अभियान से बेहतर काम हुआ है। आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिये प्रभावशाली कार्रवाई करें। पुलिस सतर्क रहकर आपराधिक गतिविधियों को रोकें।

मुख्यमंत्री, जनदर्शन अभियान शुरू करेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि जन-कल्याणकारी योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन हो तथा पात्र हितग्राहियों तक लाभ पहुँचे, इसके लिये राज्य सरकार की भ्रष्टाचार के विरूद्ध जीरो टालरेंस की नीति है। कोई भी गड़बड़ी मिले तो तत्काल सख्त कार्रवाई की जाये। अपने-अपने जिलों में जनता को कोई असुविधा नहीं हो इसका ध्यान रहे। मुख्यमंत्री स्वयं इस माह के अंत से जनदर्शन अभियान शुरू करेंगे। इसमें जन-कल्याणकारी योजनाओं की मैदानी वास्तविकता का आकलन किया जायेगा।

वीडियो कान्फ्रेंसिंग के दौरान जिलों में मौजूद विधायकों ने कृषि महोत्सव के आयोजन तथा अन्य शासकीय कार्यक्रमों के बारे में सुझाव दिये।

लाइफ स्टाइल

Survey : घरों के परदों और सोफे से भी होती है सांस ...

PUBLISHED : Aug 17 , 3:09 PM

आमतौर पर माना जाता है कि सांस की बीमारी सिगरेट, बीड़ी पीने से होती है। पर, पिछले डेढ़ साल में हुए शोध के मुताबिक बिना धूम्...

View all

बॉलीवुड

Prev Next