4.5 लाख से ज्यादा कंपनियों ने नहीं किया रिटर्न फाइल, सरकार लेगी एक्शनBookmark and Share

PUBLISHED : 29-Dec-2014

नई दिल्ली। देश में कारोबार कर रही है 4.5 लाख से ज्यादा कंपनियों ने साल 2013-14 के लिए रिटर्न नहीं फाइल किया है। ऐसे में सरकार रिटर्न फाइल नहीं करने वाली कंपनियों पर एक्शन लेने की तैयारी में है। नए कंपनी कानून के तहत दो साल तक रिटर्न नहीं फाइल करने वाली कंपनियां डारमैंट कैटेगरी में आ जाएंगी। जिसके आधार पर रजिस्ट्रॉर ऑफ कंपनीज (आरओसी) ऐसी कंपनियों का रजिस्ट्रेशन भी निरस्त कर सकता है।
 
कॉरपोरेट अफेयर मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मनीभास्कर को बताया कि नए कंपनी कानून के तहत जो कंपनियां लगातार 2 साल तक रिर्टन नहीं फाइल करेंगी वह डारमेंट कैटगरी के तहत मानी जाएगी। पुराने कानून के तहत 3 साल तक रिटर्न नहीं फाइल करने वाली कंपनियां डारमैंट कैटेगरी में आती थी।
 
4.5 लाख से ज्यादा कंपनियों ने रिटर्न नहीं किया फाइल
 
अधिकारी के अनुसार देश में इस समय 9.6 लाख के करीब कंपनियां एक्टिव हैं। जिसमें से नवंबर तक 4.5 लाख से ज्यादा कंपनियों ने रिटर्न नहीं फाइल किया है। मंत्रालय के रिकार्ड के अनुसार कुल एक्टिव कंपनियों में से करीब 1.8 लाख कंपनियां पिछले 18 महीने में रजिस्टर्ड हुई है। ऐसे में इन पर डारमैंट कैटेगरी का नियम नहीं लागू होगा। बाकी ऐसी कंपनियों जिन्होंने दो साल से ज्यादा समय से रिटर्न नहीं फाइल किया है, उन पर एक्शन लिया जाएगा।
 
31 दिसंबर तक है मौका
 
अधिकारी के अनुसार कंपनी लॉ सेटलेमेंट स्कीम 31 दिसंबर तक लागू है। जिसका कंपनियां फायदा उठा सकती है। मंत्रालय रिटर्न नहीं फाइल करने वाली कंपनियों में से ऐसी कंपनियों को लिस्ट तैयार कर रहा है, जिन्होंने 2 साल या उससे ज्यादा समय से रिटर्न नहीं फाइल किया है।

लाइफ स्टाइल

गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है गर्दन का दर्द, जान...

PUBLISHED : Aug 23 , 8:31 AM

गर्दन में दर्द की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। शरीर का पॉस्चर ठीक न होने की वजह से गर्दन की मांसपेशियों र्में ंखचाव आ ज...

View all

बॉलीवुड

Prev Next