प्रधानमंत्री जन-धन योजना के अमल में मध्यप्रदेश अव्वलBookmark and Share

PUBLISHED : 29-Nov-2014

प्रधानमंत्री जन-धन योजना के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश देश में अव्वल रहा है। बड़े राज्यों में मध्यप्रदेश ने सबसे पहले शत-प्रतिशत परिवार के पास बेंक खाते उपलब्ध करवाने का लक्ष्य प्राप्त कर लिया है। फलस्वरूप अब प्रदेश के कुल 01 करोड़ 53 लाख 86 हजार 853 परिवार में एक भी परिवार ऐसा नहीं है जिसके पास बेंक खाता न हो।
 
पूरे देश के साथ प्रदेश में 28 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री जन-धन योजना लागू की गई। इसमें प्रधानमंत्री ने शत-प्रतिशत बेंक खाते खोलने का लक्ष्य प्राप्त करने की अंतिम तिथि 26 जनवरी 2015 निर्धारित की थी। मध्यप्रदेश ने यह लक्ष्य 30 नवम्बर 2014 को ही प्राप्त कर लिया है।
 
प्रदेश में किये गये सर्वेक्षण के अनुसार ऐसे परिवारों की संख्या 01 करोड़ 4 लाख 39 हजार 216 थी, जिनके पास बेंक खाते थे। योजना में चलाये गये अभियान के दौरान 49 लाख 47 हजार 637 परिवार के बेंक खाते खोलकर उन्हें बेंकों से जोड़ा गया। अभियान के दौरान कुल 58 लाख 64 हजार 452 खाते खोले गये।
 
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान पहले दिन से ही प्रधानमंत्री जन-धन योजना के क्रियान्वयन की व्यक्तिगत रूप से गहन समीक्षा कर रहे हैं। उन्होंने राज्य-स्तरीय बेंकर्स समिति की 155वीं बैठक में भी योजना की प्रगति की समीक्षा की और बताया कि योजना का लक्ष्य 31 दिसम्बर 2014 तक अवश्य प्राप्त कर लिया जाये।
 
राज्य शासन ने इस कार्य को सबसे पहले पूरा करने वाले जिलों के जिला कलेक्टर और अग्रणी जिला बेंक प्रबंधकों को राज्य-स्तर पर सम्मानित करने का निर्णय लिया है। इसी प्रकार राज्य-स्तर पर सबसे पहले कार्य पूर्ण करने वाले बेंकों के राज्य-स्तरीय प्रमुख को भी सम्मानित करने का निर्णय लिया गया। जिले में विकासखण्ड स्तर पर सब-सर्विस एरिया में आने वाले सभी ग्राम पंचायत के सरपंच और बेंक तथा शहरी क्षेत्र में वार्ड प्रभारी को भी प्रशंसा-पत्र देने का निर्णय लिया गया। आकलन के बाद जिला कलेक्टर और अग्रणी जिला बेंक प्रबंधकों को मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किया जायेगा।
 
योजना में खोले गये कुल 58 लाख 64 हजार 452 बेंक खाते में से 45 लाख 55 हजार 625 खाते ग्रामीण परिवार के और 13 लाख 8 हजार 686 खाते शहरी परिवार के हैं।

लाइफ स्टाइल

कोरोना भगाने के लिए सोशल मीडिया पर वायरल टोटके, कह...

PUBLISHED : Mar 29 , 2:33 PM

महामारी से बचने के लिए पहले के लोग कोई न कोई टोटका किया करते थे। इसका कारण था मेडिकल साइंस का असहाय होना। कोरोना वायरस क...

View all

बॉलीवुड

Prev Next